Bihar TET Exam Question Paper with Answer In Hindi

Bihar TET Exam Question Paper with Answer In Hindi

बिहार टीईटी परीक्षा प्रश्न पत्र इन हिंदी – जो उम्मीदवार Bihar TET के एग्जाम की तैयारी कर रहा है ,उसे आज इस पोस्ट में Bihar TET Question Paper दिया गया है .जो Bihar TET की परीक्षा में पहले भी आ चुके है . इस Question Paper से उम्मीदवार को पता चल जाएगा की Bihar TET के पेपर में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते है .और इनसे उनकी तैयारी भी अच्छे से हो जाती है .इसलिए इस पोस्ट में Bihar TET Solved Paper बिहार टीईटी एग्जाम पेपर से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर दिए गए है .इन्हें आप ध्यान से पढ़े

9 वर्ष के बालक की नैतिक तर्कना आधारित होती है

(1) कोई कार्य सही होना इस बात पर निर्भर करता है कि उससे व्यक्ति को अपनी आवश्यकता पूर्ति होती है।
(2) किसी कार्य के भौतिक परिणाम उसकी अच्छाई या बुराई को निर्धारित करते हैं
(3) नियमों का पालन करने के बदले में कुछ लाभ मिलना चाहिए
(4) सही कार्य वह है जो उस व्यक्ति के द्वारा किया जाये जो अन्य व्यक्तियों को अपने व्यवहार से प्रभावित करता है।

किसी कार्य के भौतिक परिणाम उसकी अच्छाई या बुराई को निर्धारित करते हैं

निम्न में से कौन-सा उदाहरण अभिप्रेरणा का परिणाम नहीं हैं?

(1) जा न स्टुअर्ट मिल ने 12 वर्ष की उम्र में दर्शन का अध्ययन आरम्भ कर दिया था
(2) कृष्ण ने नृत्य का समय एक घंटे से बढ़ा कर दो घंटे कर दिया है।
(3) जगन ने ‘श्वास लेने की प्रक्रिया’ में रुचि दिखानी प्रारम्भ कर दी है
(4) राम ने तेजी से आधुनिक एवं प्राचीन ऐतिहासिक प्रवृत्तियों में सहसम्बन्ध स्थापित करने में प्रगति की है।

जगन ने ‘श्वास लेने की प्रक्रिया’ में रुचि दिखानी प्रारम्भ कर दी है

निम्न में से क्या एक प्रभावी प्रशंसा के रूप में अध्यापक के लिये कार्य करेगा?

(1) विद्यार्थियों के वर्तमान कार्य निष्पादन को उसके समूह के अन्य साथियों के सन्दर्भ वर्णित करता है
(2) विद्यार्थियों के अवधान को उसके कार्य से सम्बन्धित व्यवहार पर केन्द्रित करता है
(3) विद्यार्थियों को उनकी योग्यताओं अथवा कार्य निष्पादन के महत्व की सूचना देता है
(4) जब विद्यार्थी अपने व्यवहार को नियंत्रित नहीं कर पाते तो उन्हें सकारात्मक व्यवहारात्मक समर्थन प्रदान करता है।

जब विद्यार्थी अपने व्यवहार को नियंत्रित नहीं कर पाते तो उन्हें सकारात्मक व्यवहारात्मक समर्थन प्रदान करता है।

निम्न में से कौन-सा उदाहरण अधिगम को प्रदर्शित करता है?

(1) स्वादिष्ट भोजन देख कर मुँह में लार का आना
(2) हाथ जोड़ कर अध्यापक का अभिवादन करना
(3) चढ़ना, भागना एवं फेंकना तीन से पाँच वर्ष की अवस्था में
(4) इनमें से सभी।

चढ़ना, भागना एवं फेंकना तीन से पाँच वर्ष की अवस्था में

निम्न में से कौन-सा चिन्तन की प्रक्रिया में सबसे कम महत्वपूर्ण है?

(1) प्रतीक एवं चिह्न
(2) चित्र
(3) मांसपेशीय क्रियायें
(4) भाषा

भाषा

अन्तर्वैयक्तिक बुद्धि को प्रदर्शित करने वाला व्यवहार है

(1) दूसरे के मूड को भाँप जाना
(2) दूसरे के अन्तर्मन की इच्छाओं एवं मंशा का पता लग्गाना
(3) मिलते जुलते संवेगों यथा उदासी एवं पछतावा में भेद कर पाना
(4) दूसरों के विचारों एवं व्यवहारों को प्रभावित करने के लिये उनसे सम्बन्धित जानकारी का प्रयोग करना।

मिलते जुलते संवेगों यथा उदासी एवं पछतावा में भेद कर पाना

निम्न में से कौन-सी व्यूह रचना/ अभिप्रेत लैंगिक अन्तरों को मद्देनजर रखते लैंगिक समता की भावना के विपरीत है?

(1) प्रारंभिक विद्यालयों वर्षों में लड़के एवं लड़कियों में शारीरिक एवं गामक कौशलों के विकास की सम्भाव्य क्षमता समान होती है
(2) विद्यार्थियों को बतायें कि रूढ़िबद्ध विषयों में सफलता हासिल कर सकते है
(3) लड़कों की समस्याओं के समाधान और विश्व पर नियंत्रण रखने के लिये उनकी योग्यता पर उनको आत्मविश्वास विकसित करने के लिये सहयोग प्रदान करें
(4) लड़के एवं लड़कियों दोनों के कम आक्रामक एवं एक दूसरे के साथ अन्त:क्रिया करने के सम्मत सामाजिक तरीकों को सिखाया जाये।

लड़कों की समस्याओं के समाधान और विश्व पर नियंत्रण रखने के लिये उनकी योग्यता पर उनको आत्मविश्वास विकसित करने के लिये सहयोग प्रदान करें

एक अध्यापक किसी भी समूह में समुदाय आधारित व्यक्तिगत विभिन्नताओं को समझ सकता है –

(1) बुद्धि के आधार पर
(2) आँखों के सम्पर्क के आधार पर
(3) भाषा एवं अभिव्यक्ति के आधार पर
(4) गृह कार्य के आधार पर

भाषा एवं अभिव्यक्ति के आधार पर

सृजनशीलता के पोषण हेतु, एक अध्यापक को अपने विद्यार्थियों को रखना चाहिए

(1) लक्ष्य केन्द्रित
(2) कार्य केन्द्रित
(3) कार्य केन्द्रित एवं लक्ष्य केन्द्रित
(4) पुरस्कार प्रेरित

लक्ष्य केन्द्रित

निम्न में से कौन-सी विशेषता सामाजिक रूप से वंचित वर्ग के विद्यार्थियों की नहीं है?

(1) नियमित स्वास्थ्य सम्बन्धी देखभाल नहीं मिलती
(2) बालकों को देखभाल के अनुभव उन्हें स्कूल के लिए प्रभावशाली ढंग से तैयार नहीं करते
(3) व्यापक एवं विविध अनुभवों को प्राप्त करने का मौका नहीं मिलता
(4) विद्यालय में अच्छा करने के लिये अभिप्रेरित नहीं किया जाता।

नियमित स्वास्थ्य सम्बन्धी देखभाल नहीं मिलती

क्रियात्मक अनुसन्धान मौलिक अनुसन्धान से भिन्न है क्योंकि यह

(1) शोधकर्ताओं द्वारा किया जाता है जिनका विद्यालय से कोई सम्बन्ध नहीं होता
(2) अध्यापकों, शैक्षिक प्रबन्धकों एवं प्रशासकों द्वारा किया जाता है
(3) यह सांख्यिकीय उपकरणों पर आधारित होता है
(4) यह न्यादर्श पर आधारित होता है।

अध्यापकों, शैक्षिक प्रबन्धकों एवं प्रशासकों द्वारा किया जाता है

क्रियात्मक अनुसन्धान में

(1) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण किसी तर्कयुक्त विवेक पर आधारित है।
(2) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण समस्याओं के कारणों पर आधारित है
(3) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण इस प्रकार किया जाता है ताकि उनका सांख्यिकीय सत्यापन किया जा सके
(4) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण नहीं किया जाता।

क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण समस्याओं के कारणों पर आधारित है

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा, 2005 में बहुभाषा को एक संसाधन के रूप में समर्थन दिया गया है क्योंकि

(1) भाषागत पृष्ठभूमि के कारण कोई भी बालक पीछे न छूट जाये
(2) यह एक तरीका है जिसमें प्रत्येक बालक सुरक्षित महसूस करें
(3) यह बालकों को अपने पर विश्वास के लिये प्रोत्साहन देगा
(4) इनमें से सभी

इनमें से सभी

निम्न में से कौन-सा तरीका विज्ञान विषय को समझने के लिये उच्च प्राथमिक स्तर पर उपयुक्त नहीं है?

(1) रेखाचित्र बनाना
(2) वस्तुओं का प्रेक्षण करना व अवलोकनों को रिकार्ड। दर्ज करना
(3) वास्तविक अनुभव प्रदान करना
(4) अमूर्त्तता के द्वारा विषय को सीखना

अमूर्त्तता के द्वारा विषय को सीखना

निम्न में से कौन-सा कथन बहुग्रेड शिक्षण प्रणाली के साथ सहमति नहीं रखता?

(1) बैठने की लचीली व्यवस्था
(2) एक अध्यापक एक समय में एक से अधिक कक्षाओं का प्रबन्धन करता है
(3) विभिन्न कक्षाओं में एक ही कक्षा में अन्त:क्रिया
(4) विद्यार्थियों का आयु एवं योग्यता के आधार पर समान होना

विद्यार्थियों का आयु एवं योग्यता के आधार पर समान होना

संज्ञानात्मक विकास में वंशक्रम निर्धारित करता है

(1) शारीरिक संरचना के विकास को
(2) मस्तिष्क जैसी शारीरिक संरचना के मूलभूत स्वभाव को
(3) सहज प्रतिवर्ती क्रियाओं के अस्तित्व को
(4) इनमें से सभी

मस्तिष्क जैसी शारीरिक संरचना के मूलभूत स्वभाव को

निम्न में से कौन-सा कथन सही नहीं है?

(1) प्रारम्भिक अनुभव महत्वपूर्ण होते हैं और अध्यापक का हस्तक्षेप भी महत्वपूर्ण होता है।
(2) जो अध्यापक यह विश्वास करता है कि विकास प्रकृति की वजह से होता है, वह अनुभव प्रदान करने को महत्त्व नहीं देता
(3) प्रारम्भिक जीवन की नकारात्मक घटनाओं के प्रभाव से कोई भी अध्यापक बचाव नहीं कर सकता
(4) व्यवहारात्मक परिवर्तन के सन्दर्भ में विकास वातावरणीय प्रभावों के फलस्वरूप होता है।

प्रारम्भिक जीवन की नकारात्मक घटनाओं के प्रभाव से कोई भी अध्यापक बचाव नहीं कर सकता

निम्न में से कौन-सी विशेषता परिपक्वता को अधिगम से अलग करती है?

(1) यह अभ्यास पर निर्भर करती है
(2) यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है
(3) यह प्रेरकों पर निर्भर करती है
(4) यह जीवन पर्यन्त चलने वाली प्रक्रिया है।

यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है

निम्न में से कौन-सा कथन विकास के सम्बन्ध में सही नहीं है?

(1) विकास का उद्देश्य वंशानुगत सम्भाव्य क्षमता का विकास करना है
(2) विकास प्रतिमानों की कुछ निश्चित विशेषताओं की भविष्यवाणी की जा सकती है।
(3) विकास के विभिन्न क्षेत्रों में सम्भाव्य खतरे नहीं होते हैं
(4) प्रारम्भिक विकास बाद के विकास से अधिक महत्वपूर्ण

विकास के विभिन्न क्षेत्रों में सम्भाव्य खतरे नहीं होते हैं

दल या गैंग का सदस्य होने से समाजीकरण उत्तर बाल्यावस्था में बेहतर होता है। निम्न में से कौन-सा कथन इस विचार के विपरीत हैं?

(1) जिम्मेदारियों को निभाना सीखता है
(2) वयस्कों पर निर्भर न होकर सीखता है
(3) अपने समूह के प्रति वफादार होना सीखता है
(4) छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा करते हुये, अपने गैंग के सदस्यों से लड़ाई मोल लेता है

छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा करते हुये, अपने गैंग के सदस्यों से लड़ाई मोल लेता है

योगात्मक मूल्यांकन का उद्देश्य है

(1) अधिगम को सुगम बनाना व ग्रेड न प्रदान करना
(2) समय विशेष एवं विभिन्न कार्यों पर एक विद्यार्थी ने कितना अच्छा निष्पादित किया है, का पता लगाना
(3) ऐसे विद्यार्थी का पता लगाना जो अपने साथियों के समकक्ष सम्प्राप्ति में कठिनाई अनुभव कर रहा है
(4) अगली इकाई के अनुदेशन से पूर्व प्रगति का पता लग्गाना।

समय विशेष एवं विभिन्न कार्यों पर एक विद्यार्थी ने कितना अच्छा निष्पादित किया है, का पता लगाना

राजू खरगोश से डरता था। शुरू में खरगोश को राजू से काफी दूर रखा गया। आने वाले दिनों में हर रोज खरगोश और राजू के बीच की दूरी कम कर दी गई। अन्त में राजू की गोद में खरगोश को रखा गया और राजू खरगोश से खेलने लगा। यह प्रयोग उदाहरण

(1) शाीय अनुबन्धन सिद्धान्त का
(2) प्रयत्न एवं त्रुटि सिद्धान्त का
(3) क्रिया प्रसूत अनुबन्धन सिद्धान्त का
(4) इनमें से सभी।

शाीय अनुबन्धन सिद्धान्त का

बहिर्मुखी विद्यार्थी अन्तर्मुखी विद्यार्थी से किस विशेषता के आधार पर भिन्न होता है?

(1) मन ही मन पेरशान होने की अपेक्षा अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करता है
(2) मजबूत भावनायें, पसंदगी एवं नापसंदगी
(3) अपने बौद्धिक कार्यों में डूबा रहता है
(4) बोलने की अपेक्षा लिखने में बेहतर

मजबूत भावनायें, पसंदगी एवं नापसंदगी

निम्न में से कौन कथन बुद्धि के बारे में सत्य नहीं

(1) यह सामंजस्य/अनुकूलन स्थापित करने में सहायक है
(2) यह एक व्यक्ति की मानसिक क्षमता है
(3) यह व्यवहार की गुणवत्ता से आँकी जाती है
(4) यह स्थाई एवं अपरिवर्तनशील विशेषता है।

यह स्थाई एवं अपरिवर्तनशील विशेषता है।

एक सन्तुलित व्यक्तित्व वह है जिसमें

(1) इदम् एवं अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता
(2) इदम् एवं परम अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
(3) अहम् एवं परम् अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
(4) मजबूत अहम् को बनाया जाता है।

इदम् एवं परम अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।

मानसिक रूप से पिछड़े बालकों के लिये निम्न में से कौन-सी व्यूह रचना कार्य करेगी?

(1) विद्यार्थियों को लक्ष्य निर्धारित करने के लिये प्रोत्साहित करना
(2) कार्यों को मूर्त रूप से समझाना
(3) स्व-अध्ययन के अवसर प्रदान करना
(4) सहायता के लिये बाहर से संसाधनों को प्राप्त करना

सहायता के लिये बाहर से संसाधनों को प्राप्त करना

नृत्य, ड्रामा एवं शिल्पकला का प्रयोग किया जाता

(1) व्यक्तित्व को ढालने के लिए
(2) विशिष्ट गुणों के विकास हेतु
(3) दबी एवं बर्दाश्त न की जा सकने वाले अंतनोंद के प्रगटीकरण हेतु
(4) इनमें से सभी

इनमें से सभी

वर्तनी, वाचन एवं गणना में कठिनाई, सामान्य बुद्धि एवं अच्छी अनुकूलनात्मक योग्यता विशेषता है

(1) सामान्य/औसत अधिगमकर्ता की
(2) धीमी गति से सीखने वालों की
(3) मानसिक रूप से पिछड़े बालकों की
(4) अधिगम निर्योग्य बालकों की।

सामान्य/औसत अधिगमकर्ता की

फ एवं व, म एवं न अक्षरों की ध्वनियों में अन्तर न कर पाना, अधिगम की समस्या सम्बन्धित है

(1) स्मृति की
(2) अवधान केन्द्रण की
(3) प्रत्यक्षीकरण की
(4) इनमें से सभी

प्रत्यक्षीकरण की

निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का बालकों का अधिकार, 2009 के अर्न्तगत, किसी भी अध्यापक को निम्न में से किस कार्य के लिये नहीं लगाया जा सकता?

(1) आपदा राहत कार्य में
(2) दस वर्ष पश्चात होने वाली जनगणना में
(3) चुनाव सम्बन्धी कार्य में
(4) पल्स पोलियो कार्यक्रम में

पल्स पोलियो कार्यक्रम में
निर्देश निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सबसे उचित विकल्प चुनिए।
भाषा 1 (हिन्दी)

भाषा अधिगम में प्रायः कठिनाई नहीं आती

(1) आत्मविश्वास की कमी
(2) संकोची स्वभाव
(3) मानसिक अस्वस्थता
(4) मानसिक स्वस्थता

मानसिक स्वस्थता

निम्न में शुद्ध रूप से लिखा वाक्य है

(1) हम तो अवश्य ही जाएँगे
(2) किसी आदमी को भेज दो
(3) तब शायद यह काम अवश्य हो जाएगा
(4) कृपया आने का अनुग्रह करें

किसी आदमी को भेज दो

शब्दकोष में निम्न में से सर्वप्रथम आने वाला शब्द

(1) प्रकम्प
(2) प्याऊ
(3) प्ल वन
(4) प्रकीर्ण

प्याऊ

वर्तनी की दृष्टि से शुद्ध शब्द है

(1) आव्हान
(2) इक्षा
(3) श्रृंगार
(4) प्रत्यूष

प्रत्यूष

निम्न में से सकर्मक क्रिया है –

(1) पढ़ना
(2) हँसना
(3) सोना
(4) रोना

पढ़ना

निर्देश निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर दिए गए प्रश्नों के सबसे उचित विकल्प को चुनकर उत्तर दीजिए। वर्तमान मेरे लिए और मुझ जैसे बहुत से और लोगों के लिए मध्ययुगीनता, भयंकर गरीबी एवं दुर्गति और मध्य वर्ग की कुछ-कुछ सतही आधुनिकता का विचित्र मिश्रण है। मैं अपने वर्ग और अपनी किस्म के लोगों का प्रशंसक नहीं था, फिर भी भारतीय संघर्ष में नेतृत्व के लिए मैं निश्चित रूप से मध्य वर्ग की ओर देखता था। यह मध्य वर्ग स्वयं को बंदी और सीमाओं में जकड़ा हुआ महसूस करता था और खुद तरक्की और विकास करना चाहता था। अंग्रेजी शासन के ढाँचे के भीतर ऐसा न कर पाने के कारण उसके भीतर विश्वेह की चेतना पनपी लेकिन यह चेतना उस ढाँचे के खिलाफ नहीं जाती थी जिसने हमें रौंद दिया था। ये उस ढाँचे को बनाए रखना चाहते थे और अंग्रेजों को हटाकर उसका संचालन करना चाहते थे। ये मध्य वर्ग के लोग इस हद तक इस ढाँचे की पैदाइश थे कि उसे चुनौती देना या उसे उखाड़ फेंकने का प्रयास करना इसके बस की बात नहीं थी।

लेखक किस वर्ग से सम्बन्धित है?

(1) मध्य वर्ग
(2) सामन्त वर्ग
(3) निम्न वर्ग
(4) इनमें से कोई नहीं

मध्य वर्ग

मध्य वर्ग में विश्वेही चेतना का कारण था –

(1) मध्य वर्ग राष्ट्रवादी था
(2) मध्य वर्ग साम्राज्यवाद विरोधी था
(3) मध्य वर्ग अंग्रेजों को विस्थापित करके शासन संचालन चाहता था
(4) उपरोक्त सभी

मध्य वर्ग अंग्रेजों को विस्थापित करके शासन संचालन चाहता था

गद्यांश में आए भारतीय संघर्ष का सन्दर्भ है

(1) चीन के विरुद्ध संघर्ष
(2) भारत का स्वतन्त्रता संघर्ष
(3) पाकिस्तान के विरुद्ध संघर्ष
(4) महाशक्तियों के विरुद्ध संघर्ष

भारत का स्वतन्त्रता संघर्ष

निम्न में से कौन-सा सामाजिक वर्ग ब्रिटिश शासन प्रणाली की उपज था?

(1) सामन्त वर्ग
(2) उच्च वर्ग
(3) किसान
(4) मध्य वर्ग

मध्य वर्ग

भाषा शिक्षण का आदर्श वातावरण है

(1) भाषागत शुद्धता पर अत्यधिक बल
(2) विद्यार्थियों को अभिव्यक्ति के भरपूर अवसर
(3) अध्यापक का एकालाप
(4) दृश्य-श्रव्य सामग्री का प्रचुर उपयोग

विद्यार्थियों को अभिव्यक्ति के भरपूर अवसर

किस शब्द का सन्धि-विच्छेद सही नहीं है?

(1) नी ? ऊन न्यून
(2) प्र ऊढ़, प्रौढ़
(3) अम्बु र ऊर्मि, अम्बूर्मि
(4) शची र इन्द्र शचीन्द्र

नी ? ऊन न्यून

प्रत्येक पाठ के प्रारम्भ में होना चाहिए –

(1) परिशिष्ट
(2) पाठ का सार
(3) प्रस्तावना
(4) अभ्यास

प्रस्तावना

रंगमंच पर पर्दे के पीछे का स्थान कहलाता है –

(1) नेपथ्य
(2) नैऋत्य
(3) प्रेक्षागृह
(4) अलिन्द

नेपथ्य

‘इन्द्र’ के पर्यायवाची शब्दों का समूह है

(1) मधवा, पुरन्दर, शचीपति, वासव
(2) वैनतेय, चन्द्रमौलि, सुरपति, देवराज
(3) सुरपति, पुरन्दर, उपेन्द्र, अंशुमाली
(4) वैनतेय, मधवा, सुरपति, वासव

मधवा, पुरन्दर, शचीपति, वासव

भाषा प्रवाह तथा अभिव्यक्ति कौशल के मूल्यांकन का उपयुक्त तरीका है

(1) वस्तुनिष्ठ परीक्षण
(2) लिखित परीक्षाएँ
(3) मौखिक वार्तालाप
(4) इनमें से कोई नहीं

मौखिक वार्तालाप

अधोलिखित शब्द युग्म का सही अर्थ विकल्प चुनिए अनुलम्ब-अनुलग्न

(1) ऊपरी-जुड़ा हुआ
(2) ऊर्ध्वाकार-समय के अनुसार
(3) अनिश्चित – किसी के साथ जुड़ा हुआ
(4) लम्बाई के अनुसार – शुभकाल

अनिश्चित – किसी के साथ जुड़ा हुआ

“पण्डित दूध पीता है।” इस वाक्य में कारक है

(1) सम्प्रदान, सम्बन्ध
(2) कर्म, करण
(3) कर्ता, कर्म
(4) इनमें से कोई नहीं

कर्ता, कर्म

‘ज्ञ’ को वर्णमाला में माना जाता है

(1) स्वर सन्धि
(2) संयुक्त व्यंजन
(3) अनुस्वार
(4) व्यंजन

संयुक्त व्यंजन

‘कनक’ शब्द का अर्थ समूह चुनिए।

(1) स्वर्ण, धतूरा, गेहूँ
(2) वृक्ष, स्वर्ण, धतूरा
(3) स्त्री, पलाश, आभूषण
(4) इनमें से कोई नहीं

स्वर्ण, धतूरा, गेहूँ

निम्न में से किस शब्द में बहुव्रीहि समास है?

(1) पंसेरी
(2) चौराहा
(3) शताब्दी
(4) पंजाब

पंजाब

किस शब्द में ‘ल’ प्रत्यय रूप में नहीं आया है?

(1) मृदुल
(2) कुशल
(3) विमल
(4) रोमल

विमल

विसर्ग सन्धि का उदाहरण है

(1) विस्मरण
(2) अतएव
(3) उच्चारण
(4) विसर्ग

अतएव

भाषा शिक्षक को एक बहु सांस्कृतिक कक्षा के किस बात पर बल देना चाहिए?

(1) पाठ्य-पुस्तक के प्रत्येक पाठ को भली-भाँति समझाना
(2) बच्चों का भाषा प्रयोग के अधिक-से-अधिक अवसर देना
(3) बच्चों को व्याकरण सिखाना
(4) स्वयं द्वारा भाषा का शुद्ध प्रयोग करना

बच्चों का भाषा प्रयोग के अधिक-से-अधिक अवसर देना

कौन-सा शब्द ‘ईन’ प्रत्यय के योग से नहीं बना

(1) नमकीन
(2) मनोहारिन
(3) युगीन
(4) ग्रामीण

मनोहारिन

‘अनजान सुजान, सदा कल्यान’ लोकोक्ति का भावार्थ है

(1) भोला-भाला ज्ञानी कल्याणकारक होता है
(2) अनजान और सुजान के साथ सदैव लाभ मिलता है
(3) मूर्ख और ज्ञानी दोनों मजे में रहते हैं
(4) मूर्ख स्वयं को ज्ञानी समझकर नुकसान कराता है

मूर्ख और ज्ञानी दोनों मजे में रहते हैं

‘प्राक्तन’ शब्द में उपसर्ग एवं मूल शब्द का सही विकल्प है –

(1) प्राक् तन
(2) प्रा तन
(3) पर् ? तन
(4) प्राकतन

प्राक् तन

‘कवि’ शब्द में संज्ञा है –

(1) जाति वाचक
(2) व्यक्तिवाचक
(3) द्रव्यवाचक
(4) इनमें से कोई नहीं

जाति वाचक

विद्यार्थियों में भाषा की रुचि का विकास करने का उपयुक्त उपाय है –

(1) विद्यार्थियों को पाठ्य-पुस्तकें पढ़वाना
(2) विद्यार्थियों के व्याकरण के ज्ञान को बढ़ाना
(3) विद्यार्थियों को मौखिक रूप से अधिकाधिक समझाना
(4) उपरोक्त सभी

विद्यार्थियों को मौखिक रूप से अधिकाधिक समझाना

‘दुष्ट अपनी दुष्टता नहीं छोड़ता’ के लिए उचित लोकोक्ति है –

(1) गंगा गए तो गंगादास, जमुना गए तो जमुनादास
(2) खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे
(3) कबहुँ निरामिष होय न कागा
(4) जिस पत्तल में खाया, उसी में छेद करना

कबहुँ निरामिष होय न कागा

निम्न में से कौन-सा वर्ण स्पर्श संघर्षी है?

(1) श
(2) झ
(3) ट
(4) ह

इस पोस्ट में आपको Bihar TET questions and answers pdf Bihar TET Model Question Paper 2021 Bihar Teacher Eligibility Test Paper bihar tet 2021 question paper with answer bihar tet question paper Bihar TET Previous Year Question Papers pdf बिहार टीईटी पेपर बिहार टीईटी पिछले वर्ष प्रश्न पत्र बिहार टेट से संबंधित काफी महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर दिए गए है यह प्रश्न उत्तर फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और इसके बारे में आप कुछ जानना यह पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!